ठण्ड से किसी भी गोवंश की जान जाने पर संबंधित के खिलाफ कठोर कार्यवाही की जायेगी -कौशल राज शर्मा

December 6, 2019 by No Comments

प्रत्येक न्याय पंचायत स्तर पर
गौशाला निर्माण जल्द से जल्द पूर्ण
हो-जिलाधिकारी

गौशाला आश्रय स्थल में ठण्ड से
गोवंश को बचाने के लिए टाट,बोरी की
व्यवस्था किए जाने का दिए कड़े निर्देश

वाराणसी। जिलाधिकारी
कौशल राज शर्मा ने गुरुवार को
कैंप कार्यालय स्थित सभागार में
वाराणसी खण्ड स्नातक एवं
शिक्षक निर्वाचन क्षेत्र की
निर्वाचक नामावलियों की तैया-
री एवं प्राप्त फार्माे (१८ एवं
१९) की डाटा इन्ट्री कार्य की
समस्त पदनामित सहायक नि-
र्वाचक रजिस्ट्रीकरण
अधिकारियों के साथ समीक्षा
की। समीक्षा के दौरान पिण्डरा
विधान सभा, रोहनियां,
वाराणसी दक्षिणी, वाराणसी
कैण्टोमेन्ट एवं सेवापुरी के
विधानसभा में प्राप्त दावों के
डाटा इन्ट्री कार्य पूर्ण न होने
पर नाराजगी व्यक्त करते हुए
उन्होंने सम्बन्धित अधिकारियों
को निर्देशित किया कि
०६.१२.२०१९ को पूर्वान्ह
१०.०० बजे तक डाटा इन्ट्री
का कार्य पूर्ण कराया जाय तथा
आयोग के नियत प्रारूप पर
निर्वाचक नामावली तैयार कर
दिनांक ०६.१२.२०१९ के
सायं तक जिला निर्वाचन
कार्यालय में उपलब्ध करा दिया
जाय तथा अस्वीकृत किये गये
दावों पर ए०ई०आर०ओ० द्वारा
अपना स्पीकिंग आर्डर पारित
करते हुये बी०एल०ओ० का
भी हस्ताक्षर कराया जाय तथा
दिनांक ०७.१२.२०१९ को
आयोजित बैठक में मेरे समक्ष
प्रस्तुत किया जाय। उन्होंने
भारत निर्वाचन आयोग द्वारा
चलाये गये मतदाता सत्यापन
कार्यक्रम की भी समीक्षा की
और कार्य शत-प्रतिशत पूर्ण
होने पर संतोष व्यक्त किया
गया। उक्त बैठक में उप जिला
निर्वाचन अधिकारी, समस्त
पदनामित सहायक निर्वाचक
रजिस्ट्रीकरण अधिकारी तथा
जिला विद्यालय निरीक्षक
उपस्थित थे। इसके अलावा
जिलाधिकारी ने प्रत्येक न्याय
पंचायत स्तर पर गोशाला
निर्माण की भी समीक्षा कर
निर्देश दिया कि किसी भी
स्थिति में प्रत्येक न्याय पंचायत
स्तर पर गौशाला निर्माण जल्द
से जल्द पूर्ण किया जाय तथा
जो आश्रय स्थल पूर्व से चल रहे
हैं उनमें ठण्ड से गोवंश को
बचाने के लिए टाट/बोरी की
व्यवस्था कर ली जाय। ठण्ड से
किसी भी गोवंश की जान जाने
पर संबंधित के खिलाफ
कार्यवाही की जायेगी।
उक्त के अतिरिक्त ठण्ड के
मौसम को देखते हुए रैन बसेरों
का निरीक्षण पूर्व में ही कर लिया
जाय तथा अलाव इत्यादि की
व्यवस्था जरूरत पड़ने पर करायी
जाय। आई०जी०आर०एस० पर
प्राप्त षिकायतों का प्रतिदिन
अवलोकन करें तथा समय पर
गुणवत्तापूर्ण निस्तारण करायें।
डिफाल्टर श्रेणी में शिकायतों को
न पहॅुचने दिया जाय। बैठक में
अपर जिलाधिकारी प्रशासन,
समस्त उपजिलाधिकारीगण एंव
खण्ड विकास अधिकारी
उपस्थित रहे।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *